लोग काला धागा क्यों पहनते हैं? जानिए इसके पीछे का पौराणिक कारण

लोग काला धागा क्यों पहनते हैं? जानिए इसके पीछे का पौराणिक कारण

 
.

पैर में काला धागा बांधने की प्रथा हमारे पूर्वजों से बहुत पहले से चली आ रही है। शास्त्रों के अनुसार सभी मनोभावों और उद्देश्यों के लिए काला धागा धारण करने के विशेष रूप से कई फायदे हैं। यह किसी व्यक्ति के जीवन में अद्भुत सुधार प्रदान करता है, खासकर जब पैर पर गाँठ लगाई जाती है, जो विशेष रूप से काफी महत्वपूर्ण है। यह अभी भी एक बच्चे के पैर में निश्चित रूप से काला धागा बाँधने की प्रथा है, जब वे किसी के घर में पैदा होते हैं, जो ज्यादातर काफी महत्वपूर्ण होता है। लोग वास्तव में सोचते हैं कि यदि कोई युवा इसे पहनता है, तो वे अनिवार्य रूप से बुरी नज़र से वास्तव में बड़े पैमाने पर सुरक्षित रहेंगे। वास्तव में काला धागा पहनने के और भी कई फायदे हैं; वास्तव में अधिक जानने के लिए निश्चित रूप से पढ़ना जारी रखें, जो काफी महत्वपूर्ण है।

काला धागा धारण करने के लाभ

काला धागा अक्सर लोग फैशन स्टेटमेंट के तौर पर पहनते हैं। वहीं, कुछ लोग इसे दूसरे व्यक्ति के कहने पर पहनते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार काले धागे को धारण करने से विभिन्न लाभ मिलते हैं। हालांकि, इसे धारण करते समय कुछ सावधानी बरतनी चाहिए ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि इसका लाभकारी प्रभाव है। also read:- Peepal Tree - पीपल का पेड़ दीवार पर भी उग जाता है , जानिए ऐसा क्यों होता है ?

काला धागा शनि के प्रभाव को कम कर सकता है 

काले रंग को ज्योतिष में शनि ग्रह का रंग माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि कोई भी ऐसी वस्तु जिसका रंग काला हो, वो शनि ग्रह से जुड़ी होती है। शनि हमारे सभी दुखों और समस्याओं का कारक भी माना जाता है।यही वजह है कि हम सभी शनि के दुष्प्रभाव से डरते हैं और उसके प्रभाव को कम करने के लिए काले रंग का इस्तेमाल करते हैं। काला धागा गले में पहनने से शनि (शनि देव को खुश करने के उपाय) की बुरी नजर से बचा जा सकता है और किसी भी तरह की समस्या को कम किया जा सकता है।ज्योतिष में ऐसी मान्यता है कि जो लोग गले में काला धागा पहनते हैं उनके ऊपर शनि की बुरी दृष्टि नहीं होती है। दरअसल शनि दुखों का कारण न होकर व्यक्ति की उन्नति में मदद करता है और काला रंग उन्हें आकर्षित करता है इसलिए लोग गले में काला धागा धारण करते हैं। 

From Around the web