नवरात्रि में तुलसी पूजन से होंगे सभी कष्ट दूर, ऐसा करने से होगी धन की वर्षा

नवरात्रि में तुलसी पूजन से होंगे सभी कष्ट दूर, ऐसा करने से होगी धन की वर्षा

 
.

नवरात्रि के त्योहार पर नौ देवियों की पूजा करने की परंपरा है। तुलसी के पेड़ को भी देवी लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। ऐसे में आप नवरात्रि के मौके पर तुलसी के पौधे की देवी के रूप में पूजा कर सकते हैं।नवरात्रि के पर्व पर विवाहित महिलाओं को तुलसी की पूजा अवश्य करनी चाहिए। बता दें कि तुलसी की पूजा करने से गृह क्लेश से मुक्ति मिलती है। तुलसी का पौधा भी घर में सुख-समृद्धि लाता है। यदि विवाहित महिलाएं नियमित रूप से तुलसी के पौधे की पूजा करती हैं, तो उनके पति की आर्थिक स्थिति भी मजबूत बनी रहती है।

तुलसी का पौधा देवी लक्ष्मी का रूप है, इसलिए धन, सुख और समृद्धि से संबंधित मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए आपको देवी तुलसी की पूजा अवश्य करनी चाहिए।तुलसी के पौधे में रोज जल चढ़ाना चाहिए। बहुत सी महिलाएं ऐसा नहीं कर पाती हैं इसलिए नवरात्रि के त्योहार पर आप यह जरूर करें। यदि आपके घर में तुलसी का पौधा नहीं है तो आप किसी मंदिर में जाएं और वहां मौजूद तुलसी के पौधे पर जल चढ़ाएं।

कोशिश करें कि जब आप तुलसी के पौधे पर जल चढ़ाएं तो उगता हुआ सूरज आपके सामने हो। ऐसा इसलिए क्योंकि सूर्य की किरणें और तुलसी के पौधे की ऊर्जा आपके मन को शांत करती है और आप पर सकारात्मक प्रभाव डालती है।आप तुलसी के पत्तों का सेवन भी कर सकते हैं। इससे किसी भी काम में आपकी निर्णय लेने की क्षमता भी मजबूत होगी।नवरात्रि के त्योहार के दौरान जो भी गुरुवार आता है, आप तुलसी के पौधे को पानी के साथ कच्चे दूध की कुछ बूंदें चढ़ा सकते हैं। तुलसी के पौधे को खाली कच्चा दूध न चढ़ाएं, इससे पौधे को नुकसान हो सकता है।

सूर्यास्त के बाद तुलसी के पौधे को छूना मना है, लेकिन तुलसी में दीपक जरूर रख सकते हैं। यदि आप रोज ऐसा नहीं कर पाते हैं तो नवरात्रि के दिनों में ऐसा जरूर करें। अगर आपके घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगा है तो आप 7 कपूर के दीपक भी चढ़ा सकते हैं। इससे घर में मौजूद नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है।जब भी आप तुलसी को जल चढ़ाएं या तुलसी की परिक्रमा करें तो 'महाप्रसाद जननी सर्व सौभाग्यवर्धिनी, आधी व्याधि हर नित्यं तुलसी त्वं नमोस्तुते' का जाप करें। यह मंत्र आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी करेगा।

From Around the web