Solar eclipse 2022:साल का दूसरा सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है, तुला राशि वालो के साथ-साथ इनको भी है खतरा जानिए क्यों

Solar eclipse 2022:साल का दूसरा सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है, तुला राशि वालो के साथ-साथ इनको भी है खतरा जानिए क्यों

 
.

बहुत जल्द आप भी एक बड़ी खगोलीय घटना के लिए तैयार हो जाइए। साल 2022 का दूसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण अक्टूबर महीने में लगने जा रहा है। लेकिन इस सूर्य ग्रहण की सबसे खास बात यह है कि इस बार यह दिवाली के मुख्य पर्व पर लगने जा रहा है। ऐसा माना जाता है कि ग्रहण के दौरान कोई भी शुभ कार्य वर्जित होता है। आइए जानते हैं माई पंडित के संस्थापक, सीईओ कल्पेश शाह और ज्योतिषियों की टीम से ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब और यह भी जानिए कि इस सूर्य ग्रहण से किन राशियों पर असर पड़ेगा।दिवाली का त्यौहार हर साल कार्तिक मास में कृष्ण पक्ष की अमावस्या के दिन मनाया जाता है।

इस बार यह 24 October 2022 शाम 4.44 बजे खत्म होगा।इसी कारण नरक चतुर्दशी और दोनों दिवाली 24 अक्टूबर 2022 को मनाई जाएगी। साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर 2022 मंगलवार को सुबह 04:31 बजे से शुरू होगा और सुबह 5:57 बजे चरम पर होगा।चूंकि सूर्य ग्रहण सिद्धिलव के साथ मेल खाता है, इसलिए संत इसे सिद्धिकाल कहते हैं। ऐसा कहा जाता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान, भगवान राम को गुरु वशिष्ठ ने दीक्षा दी थी। इतना ही नहीं श्री कृष्ण ने संदीपन मुनि से भी दीक्षा प्राप्त की थी। इसलिए शास्त्रों के अनुसार सूर्यास्त के बाद लगने वाले सूर्य ग्रहण का जीवन पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है।

क्योंकि यह सूर्य ग्रहण स्वाति नक्षत्र में तुला राशि में लगेगा इसलिए इसका प्रभाव मुख्य रूप से तुला राशि के लोगों पर पड़ेगा। कुछ अन्य राशियों पर भी इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। यह तुला राशि के जातकों के जीवन में कुछ नकारात्मक बदलाव जैसे नौकरी की समस्या, कुछ स्वास्थ्य समस्याओं और धन की हानि का संकेत दे रहा है। तुला राशि वालों को इस सूर्य ग्रहण के दौरान बाहर न जाने की सलाह दी जा रही है।इस सूर्य ग्रहण का तुला राशि के साथ-साथ मिथुन राशि के जातकों पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। इस राशि के लोगों को अचानक धन हानि के संकेत मिल रहे हैं और नौकरी में परिवर्तन के भी संकेत मिल रहे हैं।

आपको अपने वरिष्ठों के गुस्से का सामना करना पड़ सकता है। किसी सहकर्मी से वाद-विवाद हो सकता है, जो आपके काम में भी बाधा डाल सकता है।इसका असर कन्या राशि पर भी कुछ नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। ज्योतिष के अनुसार आपको कोई स्वास्थ्य समस्या हो सकती है और धन संबंधी समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है।ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूतक काल सूर्य या चंद्र ग्रहण शुरू होने के करीब 12 घंटे पहले से शुरू हो जाता है। इस दौरान कोई भी शुभ कार्य वर्जित है। इस दौरान मंदिर के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं और पूजा-पाठ वर्जित है।

From Around the web