Pitru paksha 2022:गरुड़ पुराण के अनुसार यदि मृत व्यक्ति के पास रख दी जाए ये कुछ चीज तो नही होगी उन्हें यमलोक की प्राप्ति

Pitru paksha 2022:गरुड़ पुराण के अनुसार यदि मृत व्यक्ति के पास रख दी जाए ये कुछ चीज तो नही होगी उन्हें यमलोक की प्राप्ति

 
.

पितृ पक्ष चल रहा है और इसमें पितरों की आत्मा की शांति के लिए उनका श्राद्ध किया जाता है।इसमें दान के कार्य बहुत ही फलदायी माने जाते हैं। कहा जाता है कि श्राद्ध पक्ष में तर्पण और पिंडदान करने से पितरों को स्वर्ग की प्राप्ति होती है। गरुड़ पुराण के अनुसार, यदि किसी मरते हुए व्यक्ति के पास चार चीजें हैं, तो श्राद्ध कर्म को स्वर्ग जाने की कोई आवश्यकता नहीं है। यदि मरते समय ये चीजें पास हों तो व्यक्ति सीधे स्वर्ग में जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार घर में रखा तुलसी का पौधा तीर्थ होता है। कहा जाता है कि जो व्यक्ति तुलसी की कृपा से अपने प्राण त्याग देता है, वह कभी यमलोक नहीं जाता।

Vastu Tips: Tulsi indicates about problems, some things you should know  before applying it at home | Vastu News – India TV

मृत व्यक्ति को यदि तुलसी के पास लेटा दिया जाए, तुलसी के पत्ते और मंजरी उसके मुंह और माथे पर रख दी जाए, तो व्यक्ति सीधे परलोक को प्राप्त करता है। गरुड़ पुराण के अनुसार, जब किसी व्यक्ति की मृत्यु का समय निकट होता है, तो एक उसके मुंह में थोड़ा सा गंगाजल डालना चाहिए। विष्णु जी के चरण कमलों से निकलने वाली गंगा पापों का नाश करती है और पापों का नाश होते ही व्यक्ति को बैकुंठ प्राप्त करने का अधिकार प्राप्त हो जाता है। इसलिए राख को गंगा में विसर्जित कर दिया जाता है।

तीन बड़े योगों में मनेगी गंगा सप्तमी, स्नान-दान के साथ ही खरीदारी और नई  शुरूआत लिए पूरा दिन रहेगा शुभ | Auspicious coincidence Ganga Saptami will  be celebrated in three big ...

जब तक ये राख गंगा में रहती है, तब तक मनुष्य स्वर्ग के सुखों का भोग करता है। श्राद्ध पक्ष में तिल का विशेष महत्व बताया गया है। तिल के बीज पवित्र हैं क्योंकि वे भगवान विष्णु के पसीने से उत्पन्न होते हैं। इसलिए जब भी किसी व्यक्ति की मृत्यु का समय निकट आए तो उसके हाथ से तिल का दान करना चाहिए। तिल का दान बहुत बड़ा दान माना जाता है। इसे दान करने से असुर, दानव और राक्षस दूर रहते हैं। मृतक के सिर पर काला तिल हमेशा रखना चाहिए। सनातन धर्म में कुश का विशेष महत्व बताया गया है।

काले तिल के फायदे, उपयोग और नुकसान - 8 Amazing Benefits of Black Sesame  Seeds and Side Effects in Hindi

कुश एक प्रकार की घास है। इसके बिना भगवान की पूजा भी अधूरी है। शास्त्रों के अनुसार, कुश की उत्पत्ति भगवान विष्णु के रोम से हुई थी। मृत्यु के समय उस व्यक्ति को कुश के आसन पर लेटना चाहिए। इसके बाद उनके माथे पर तुलसी का पत्ता लगाएं। ऐसा कहा जाता है कि यदि किसी व्यक्ति की मृत्यु से पहले ये उपाय किए जाते हैं, तो उसे बिना श्राद्ध किए स्वर्ग में स्थान मिल जाता है।

From Around the web