जानिए कब चालू होने जा रहा पितृ पक्ष और क्या क्या चीज़े है जो रखनी है आपको ध्यान में

जानिए कब चालू होने जा रहा पितृ पक्ष और क्या क्या चीज़े है जो रखनी है आपको ध्यान में

 

पितृ पक्ष 10 सितंबर से शुरू होकर 25 सितंबर 2022 तक चलेगा। इस दौरान कुछ विशेष कार्य करना मना है। ऐसा माना जाता है कि इन चीजों को करने से पितृ देव क्रोधित हो जाते हैं।पितृ पक्ष पूर्वजों के लिए प्रार्थना करने का सबसे शुभ अवसर है। इस वर्ष पितृ पक्ष प्रारंभ तिथि 10 सितंबर से शुरू होने जा रही है। पितृ पक्ष के 15 दिनों की अवधि के दौरान पिंड दान, पितरों के लिए तर्पण और श्राद्ध किया जाता है। मान्यता है कि ऐसा करने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। जिससे वे प्रसन्न होते है। ऐसा कहा जाता है कि अगर पितरों की प्रसन्नता होती है तो वंशजों का भी कल्याण होता है।

Pitru Paksha 2022 Date: इस माह शुरू होने वाले हैं श्राद्ध पक्ष, जानें तिथि,  तर्पण विधि और महत्व

ऐसा माना जाता है कि इस दौरान पूर्वज कौवे के रूप में धरती पर आते हैं। इस दौरान कोई भी काम करना मना है। आइए जानते हैं पितृ पक्ष 2022 में किन कार्यों से बचना चाहिए। दरअसल ऐसा माना जाता है कि पितृ पक्ष में निषेधात्मक कार्य करने से पितृ देव क्रोधित हो जाते हैं।पितृ पक्ष की पूरी अवधि विशेष मानी जाती है। इसके दौरान 15 दिनों तक घर में सात्त्विक वातावरण बनाए रखना अच्छा होता है। पितृ पक्ष की अवधि के दौरान घर में मांसाहारी भोजन न तो पकाना चाहिए और न ही सेवन करना चाहिए।

Pitru Paksha 2022 Do not this work during Pitru Paksha ancestors angry | Pitru  Paksha: पितृ पक्ष में भूलकर भी न करें ये काम, वरना पितर हो जाएंगे नाराज |  Hindi News,

हो सके तो इस दौरान लहसुन और प्याज का सेवन नहीं करना चाहिए।पितृ पक्ष के दौरान श्राद्ध करने वाले व्यक्ति को पूरे 15 दिनों तक बाल और नाखून काटने से बचना चाहिए। हालांकि यदि इस दौरान पितरों के श्राद्ध की तिथि पड़ जाए तो पिंडदान करने वाले व्यक्ति के बाल और नाखून कटवा सकते हैं।

मान्यता है कि पितृ पक्ष के दौरान पूर्वज, पक्षियों के रूप में धरती पर आते हैं। ऐसे में उन्हें किसी भी तरह से परेशान नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से पितरों को गुस्सा आता है।पितृ पक्ष के दौरान कुछ शाकाहारी चीजों का सेवन करना भी वर्जित माना जाता है। ऐसी स्थिति में लौकी खाने से बचना चाहिए।पितृ पक्ष के दौरान चना, जीरा और सरसों का साग।धार्मिक मान्यता के अनुसार पितृ पक्ष में कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए।पितृ पक्ष में शेविंग, सगाई और घर में प्रवेश वर्जित माना गया है।

From Around the web