आज़ादी महोत्तसव देखने के लिए जाईये इन बॉर्डर्स पे ज़रूर जाए

आज़ादी महोत्तसव देखने के लिए जाईये इन बॉर्डर्स पे ज़रूर जाए

 
.

15 अगस्त को राजस्थान में घूमने का प्लान बना रहे हैं तो फिर आपको भारत-पाकिस्तान की सीमा पर मौजूद लोंगेवाला बॉर्डर घूमने के लिए ज़रूर पहुंचना चाहिए। सबसे प्रसिद्ध बॉर्डर के बारे में जिक्र करें तो सबसे पहले वाघा बॉर्डर का ही नाम लिया जाता है। साल 1971 के युद्द की जीत की यादें ताजा करना चाहते हैं तो जैसलमेर में मौजूद यह बॉर्डर आपके लिए खास हो सकता है। यहां 15 अगस्त को रिट्रीट समारोह होता है जिसे आप भी देख सकते हैं।

कहा जाता है कि इस बॉर्डर के पास तनोट माता मंदिर है, जहां पर्यटक और भक्त दर्शन और घूमने के लिए आते रहते हैं। पंजाब में मौजूद हुसैनीवाला बॉर्डर भी 15 अगस्त को घूमने के लिए एक बेहतरीन जगह है। यह बॉर्डर इतना फेमस है कि यहां सिर्फ देश से ही नहीं बल्कि विदेश से भी लोग घूमने के लिए पहुंचते हैं। भारत और पाकिस्तान को अलग करने वाला यह बॉर्डर 15 अगस्त को सैलानियों से भरा रहता है।

15 अगस्त को होने वाली परेड और प्रोग्राम को देखने के लिए दोनों तरफ से लोग पहुंचते हैं।हुसैनीवाला बॉर्डर भारत-पाक की सीमा के निकट सतलुज नदी के किनारे मौजूद है। नदी के किनारे पाकिस्तान का 'गंडा सिंह वाला' नमक गांव है। कहा जाता है कि इसी गांव में भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव का अंतिम संस्कार किया गया था। ऐसे में अगर आप भी स्वतंत्रता दिवस के दिन घूमने का प्लान बन रहे हैं तो हुसैनीवाला बॉर्डर जा सकते हैं।

जब आप 15 अगस्त को सेलिब्रेट करने के लिए राजस्थान निकल ही रहे हैं तो फिर आपको लोंगेवाला बॉर्डर के अलावा मुनाबाव बॉर्डर पर भी घूमने के लिए ज़रूर पहुंचना चाहिए।  यह फेमस बॉर्डर राजस्थान के बाड़मेर में है। इस बॉर्डर के बारे में कहा जाता है कि भारत पाकिस्तान के मध्य चलने वाली रेल, थार एक्सप्रेस, मुनाबाव से ही चलती है। ऐसे में आप भी यहां आजादी का महोत्सव देखने पहुंच सकते हैं।यहां आप मुनाबाव रेलवे स्टेशन से आसानी से पहुंच सकते हैं।

From Around the web