समुद्र के अंदर स्थित है भारत के क्षेत्रफल से दोगुने यह विशालकाय जंगल

समुद्र के अंदर स्थित है भारत के क्षेत्रफल से दोगुने यह विशालकाय जंगल

 
.

समुद्र की गहराइयों में एक ऐसा जंगल मिला है, जो क्षेत्रफल में भारत से भी दोगुना साबित हुआ है। वैज्ञानिकों ने पहली बार दुनिया के सभी समुद्री जंगलों का नक्शा बनाया है। आप सोच रहे होंगे कि ये समुद्री जंगलों का काम क्या है और यह किस तरह के जंगल हैं? दुनिया के सबसे बड़े और प्रसिद्ध जंगलों में अमेजन, बोर्नियो, कॉन्गो और डेनट्री शामिल हैं। आपने कभी समुद्र के अंदर जंगलों के बारे में शायद ही सुना होगा। दुनिया में कई स्थानों पर समुद्री जंगल मौजूद हैं और इनका हाल ही में नक्शा भी बनाया गया है।

इन सभी जंगलों का आकार भारत के क्षेत्रफल से दोगुना है। रूस से लेकर कनाडा तक बोरियल जंगल (Boreal Forest ) फैला हुआ है। समुद्रों के अंदर बड़े-बड़े केल्प (Kelp) और समुद्री वीड (Seaweed) के जंगल मौजूद हैं। जैसा सोचा गया था यह जंगल उससे कई गुना बड़े और घने है।इन जंगलों में बड़े पैमाने पर विभिन्न प्रकार के समुद्री जीव-जंतु रहते हैं। दक्षिण अफ्रीका के तट के नीचे ग्रेट अफ्रीकन सीफॉरेस्ट (Great African Seaforest) मौजूद है और ऑस्ट्रेलिया के पास ग्रेट साउदर्न रीफ (Great Southern Reef) मौजूद है।

दुनियाभर में समुद्र के अंदर बहुत से जंगल हैं, जिनको न तो कोई पहचानता है और ना ही कोई नाम है। हाल ही में एक रिसर्च के अनुसार इस बात का खुलासा हुआ है कि दुनिया भर में इस तरह के कितने जंगल मौजूद हैं। ये स्टडी ग्लोबल इकोलॉजी एंड बायोजियोग्राफी जर्नल में प्रकाशित की गई है।

आमतौर पर समुद्री जंगल, समुद्री सिवार (Seaweed) से बनते हैं। यह एक प्रकार के शैवाल होते हैं जो सूरज की ऊर्जा और कार्बना डाईऑक्साइड के जरिए फोटोसिंथेसिस से विकसित होते हैं। अगर अच्छा सीवीड है तो वह दसियों मीटर ऊंचाई तक फैल जाता हैं। एसे जंगल बड़े इलाकों में फैल जाते हैं। पानी की लहरों के साथ ये जंगल भी पानी के अंदर हिलते रहते हैं। जमीन की तरह ही इन जंगलों में कई प्रकार के जानवर भी रहते है। 

From Around the web