क्यों किया ब्रिटिश शासको ने इन हिल स्टेशन का निर्माण? जाने कारण और उन हिल स्टेशंस के नाम

क्यों किया ब्रिटिश शासको ने इन हिल स्टेशन का निर्माण? जाने कारण और उन हिल स्टेशंस के नाम

 
pik

भारत में कई हिल स्टेशन हैं और गर्मियों के मौसम हर कोई हिल स्टेशंस ही घूमने जाना चाहता है  भारत में कुछ ऐसे हिल स्टेशन है जिन्हें ब्रिटिश शासकों द्वारा बनाया गया था सन 1800 में हिल स्टेशन काफी फेमस थे और इस शब्द का आविष्कार ब्रिटिशर्स ने किया था ब्रिटिश शासकों ने भारत की गर्मी से बचने के लिए ऊंचाई पर इन पहाड़ी जगहों का निर्माण किया था इन हिल स्टेशनों को समर ओरिएंट्स के रूप में भी जाना जाता है उस दौरान ब्रिटिश शासक और उनके परिवार वनस्पतियों का आनंद लेने के लिए पहाड़ी जगहों पर जाया करते थे आज आपको उन हिल स्टेशनों के बारे में बताते हैं जिन्हें अंग्रेजों के जमाने में बनाया गया था

शिमला 

s

शिमला को "पहाड़ियों की रानी" कहा जाता है ब्रिटिश राज के दौरान ये जगह ग्रीष्मकालीन राजधानी हुआ करती थी यहाँ कई ऐतिहासिक इमारतें हैं जैसे मॉल रोड, स्टेट लाइब्रेरी, एलर्सली, गॉर्टन महल, चर्च और मंदिर जो इस हिल स्टेशन को और भी खूबसूरत बना देती हैं

मसूरी 

m

मसूरी का क्राइस्ट चर्च 1836 में बना था चर्च अपने नुकीले मेहराब, रिब्ड वाल्ट, कांच की खिड़कियों के साथ गॉथिक वास्तुकला का एक बेहतरीन उदाहरण पेश करता है ये जगह शांत मसूरी घाटी की झलक पेश करती है मसूरी का एक अन्य प्रमुख आकर्षण यहां मॉल रोड है

देहरादून 

d

यह हिमालय पर्वत श्रृंखलाओं के बीच बसा एक खूबसूरत शहर है यहां स्वतंत्रता सेनानियों को समर्पित प्रसिद्ध हेक्सागोनल क्लॉक टॉवर है जिसकी नींव सरोजिनी नायडू ने रखी थी और और इसका उद्घाटन लाल बहादुर शास्त्री ने किया था 1878 में औपनिवेशिक शैली के क्लासिक मिश्रण में निर्मित फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट एक अन्य वास्तुशिल्प आकर्षण है

नैनीताल 

n

नैनीताल का राजभवन या गवर्नर हाउस बकिंघम पैलेस की कॉपी के रूप में डिज़ाइन किया गया है वास्तुकला की नव-गॉथिक शैली में निर्मित सेंट जॉन वाइल्डरनेस चर्च नैनीताल के सबसे पुराने चर्चों में से एक है यहां का बलरामपुर हॉउस को लकड़ी फर्श और पुराने फर्नीचर से सजाया गया है जिसे अब होटल और रिज़ॉर्ट के रूप में उपयोग किया जाता है

From Around the web