जानिए उज्जैन के आसपास की ये सभी जगह जहा आपको जरूर जाना चाहिए

जानिए उज्जैन के आसपास की ये सभी जगह जहा आपको जरूर जाना चाहिए

 
.

जब यात्रा की बात आती है, तो कोई भी व्यक्ति ऐसी जगह जाना चाहता है जहां आध्यात्मिक आनंद का आनंद लेने का अवसर हो और वह कुछ रोमांच का आनंद भी ले सके। महाकाल की नगरी यानि उज्जैन भी कुछ ऐसी ही जगह है। उज्जैन, शिप्रा नदी के तट पर स्थित, मध्य प्रदेश के सबसे पवित्र शहरों में से एक है।अगर महाकाल शहर के आसपास घूमने के लिए कोई सबसे खूबसूरत जगह है तो देवास उनमें से एक हो सकता है। प्राकृतिक सुंदरता से भरे इस शहर को देखने रोजाना हजारों की संख्या में लोग पहुंचते हैं।

देवास में आप परिवार, दोस्तों या पार्टनर के साथ घूमने के लिए कावड़िया हिल्स, मीठा तालाब देवास, शिप्रा डैम, पुष्पगिरी तीर्थ और शंकरगढ़ हिल्स जैसी कई अन्य जगहों की यात्रा कर सकते हैं।रतलाम मध्य प्रदेश का एक खूबसूरत जिला है। कहा जाता है कि इस खूबसूरत जिले पर कभी महाराज रतन सिंह का शासन था। इस शहर में एक खूबसूरत सेलाना पैलेस है और इस महल के बीच में एक बगीचा भी है जो करीब 200 साल पुराना है।रतलाम जिले में आप हिमालय की तलहटी में स्थित बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान, कैक्टस गार्डन, धोलावाड़ बांध और खरमौर अभयारण्य भी देख सकते हैं।

रालामंडल वन्यजीव अभयारण्य एक ऐसी जगह है जहां न केवल उज्जैन बल्कि मध्य प्रदेश के अन्य शहरों से भी लोग घूमने पहुंचते हैं। समुद्र तल से 700 मीटर से अधिक की ऊंचाई पर स्थित यह अभयारण्य कई प्रवासी पक्षियों का भी घर है।अगर आप हरियाली और ठंडी हवा के बीच घूमना चाहते हैं तो आपको यहां जरूर जाना चाहिए। इस अभयारण्य में जाने के साथ-साथ आप जीप सफारी का भी लुत्फ उठा सकते हैं। आप यहां ट्रैकिंग भी कर सकते हैं। आपको बता दें कि अभयारण्य सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक ही खुला रहता है।

ऊंचे पहाड़ों और हरियाली से घिरा यह स्थान पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है। जानापव कुटी को भगवान पशुराम का जन्म स्थान माना जाता है। यह कुट कई दुर्लभ औषधीय जड़ी बूटियों के लिए भी प्रसिद्ध है। जानापाव कुटी पहाड़ियाँ चंबल नदी के उद्गम स्थल के रूप में भी लोकप्रिय हैं।कहा जाता है कि जनपद कुटी एक नहीं बल्कि कई लुभावने नजारों के लिए मशहूर है। आप यहां ट्रेकिंग का मजा भी ले सकते हैं।

From Around the web