Hypertension - सिरदर्द-थकान को हल्के में न लें , हार्ट फेल और स्ट्रोक का खतरा

Hypertension - सिरदर्द-थकान को हल्के में न लें , हार्ट फेल और स्ट्रोक का खतरा

 
bp

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से भारत में युवाओं की मौत बढ़ी है। 24% पुरुष और 21% महिला में हाई बीपी की प्रॉब्लम है। आज यानी 17 मई को वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे मनाया जाता है। 

हाइपरटेंशन क्या होता है?

हाइपरटेंशन एक मेडिकल टर्म है जिसे आमतौर पर लोग हाई बीपी कहते हैं। यह एक ऐसी सिचुएशन है जब खून का अधिक दवाब नसों में बढ़ जाता है। जब आपका ब्लड प्रेशर लेवल 140/90 से अधिक होता है तो इस स्थिति को हाइपरटेंशन कहा जाता है। जब ब्लड प्रेशर 180/120 के लेवल को पार कर जाता है तो आप डेंजर जोन में चले जाते हैं। इस दवाब से ब्लड वेसेल्स को नुकसान पहुंचता है। इस वजह से हाई बीपी, हार्ट डिजीज की संभावना बढ़ती है। 

हाइपरटेंशन का खतरा किसे ज्यादा होता है?

स्ट्रेस और एंग्जायटी के लोग
डायबिटीज के पेशेंट
किडनी के मरीज
प्रेग्नेंट महिला
वो महिला जो गर्भ निरोधक खाती हैं
मोटापा पीड़ित

हम कैसे जान सकते हैं कि हमारा ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ है?

चक्कर आना , बार बार टॉयलेट आना , थकान , कम दिखना , सिर दर्द और सीने में दर्द होता है तो भी चेकअप कराएं। यदि सांस फूलती है तो दिल और हीमोग्लोबिन भी चेक कराएं। अपना बीपी रेगुलर चेक करवाएं। ज्यादातर लोग ऐसा नहीं करते हैं इस वजह से उनकी जान को खतरा होता है।

alsoreadPeriod Cramps - पीरियड्स में बार-बार पेनकिलर खाना है खतरनाक, इन घरेलू ट्रिक्स को आजमाए ,मिलेगी दर्द से राहत

हाइपरटेंशन के जोखिम को हम कैसे कम कर सकते हैं?

ब्लड प्रेशर की मॉनिटरिंग घर पर और डॉक्टर के पास जाकर रेगुलर करते रहें।
एक्सरसाइज करें और बैलेंस डाइट लें।
नमक खाना कम कर दें।
जिनका वजन ज्यादा है उन्हें इसे जल्द से जल्द कंट्रोल करने की जरूरत है।
कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करें।
किसी भी तरह के नशे से दूर रहे। 

From Around the web