प्लास्टिक के इस्तमाल आपको हो सकता है कैंसर

प्लास्टिक के इस्तमाल आपको हो सकता है कैंसर

 
.

आज करेंसी से लेकर रोज़मर्रा में इस्तेमाल होने वाली हर चीज़ में प्लास्टिक मौजूद है। वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के मुताबिक पिछले 50 साल में प्लास्टिक का इस्तेमाल 20 गुना बढ़ गया है। आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका के बाद भारत में इसका इस्तेमाल सबसे ज़्यादा हो रहा है।

इसका अंदाज़ा इस बात से लगाइए कि हर साल 34 लाख टन प्लास्टिक कचरा सिर्फ हमारे देश से निकलता था।एक रिसर्च के मुताबिक हवा में तैरते माइक्रो प्लास्टिक के पार्टिकल्स, नाक - मुंह के ज़रिए डायरेक्ट शरीर में पहुंच रहे हैं और हार्ट अटैक और किडनी फेलियर के साथ लंग्स की परेशानी भी बढ़ा रहे हैं। इस कारण से बच्चों की मेमोरी पावर भी कमज़ोर करता है।गर्म होने पर प्लास्टिक से 'बिसफिनोल-ए' निकलता है जो शरीर में हार्मोन बनने के प्रोसेस और उनके लेवल को अफेक्ट करता है। यहां तक कि ये ज़हरीला केमिकल प्रेगनेंट महिलाओं की सेहत पर भी सीधा असर डालता है ।

साथ ही खाने-पीने की चीज़ों में केमिकल घुलता है और शरीर में पहुंचने पर कैंसर का खतरा पैदा होता है। थोड़ी राहत की खबर ये है कि जानलेवा प्लास्टिक पॉल्यूशन के साइड इफेक्ट्स को देखकर दुनिया के 80 देश सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर बैन लगा चुके हैं। इसी महीने हमारे देश में भी सिंगल यूज़ प्लास्टिक के 19 आइटम्स पर बैन लगा दिया गया है।‌

इस खतरे से बचने के लिए घर में स्टील के,लोहे के बर्तन रखे और कॉपर की बोतल रखें। माइक्रोवेव में कांच के बर्तन इस्तेमाल करें। इस के साथ ही लो क्वालिटी नॉनस्टिक बर्तन, एल्युमीनियम बर्तन,प्लास्टिक कंटेनर्स और एल्युमीनियम फॉयल का इस्तेमाल ना करें। योग-प्राणायाम रोज जरुर करें,दिन में एक बार गिलोय पीएं ,हल्दी वाला दूध जरूर लें,विटामिन-C के लिए खट्टे फल खाएं और बाहर निकलते  वक्त मास्क पहनें।

From Around the web