गर्दन और अंडरआर्म्स पर ये काले और छोटे मस्‍से हो सकते है डायबिटीज के लक्षण

गर्दन और अंडरआर्म्स पर ये काले और छोटे मस्‍से हो सकते है डायबिटीज के लक्षण

 
.

क्या आपके पास गर्दन और अंडरआर्म्स पर ये काले और छोटे मस्‍से हैं? शोध के अनुसार आपको इंसुलिन रेजिस्‍टेंटस या हाइपरट्राइग्लिसराइडिमिया हो सकता है। गर्दन के पीछे और अंडरआर्म्स पर त्वचा टैग या ब्लैकिश पिग्मेंटेशन इंसुलिन रेजिस्टेंस के बढ़ाने से जुड़ा हो सकता है और इससे डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है।

अगर आपकी गर्दन के आस-पास छोटे मस्‍से जिसे त्वचा टैग भी कहा जाता है और काली झााइयां या धब्‍बे दिखाई देते हैं तो बहुत अधिक संभावना है कि आपको डायबिटीज का खतरा हो।त्वचा के टैग ब्‍लड में हाई ट्राइग्लिसराइड्स से भी संबंधित हैं जो फिर से डायबिटीज और हार्ट रोगों से जुड़ा होता है। अक्सर, शरीर की आंतरिक समस्या के लक्षण बाहरी रूप से दिखाई देते हैं।गर्दन पर त्वचा के टैग और झाइयां इंसुलिन रेजिस्‍टेंटस के साथ निकटता से जुड़े हुए हैं जो आगे चलकर आपको डायबिटीज के खतरे में डाल सकते हैं।

इंसुलिन एक हार्मोन है जो हाई ब्‍लड शुगर के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। आप इंसुलिन रेजिस्टेंस से पीड़ित हैं, आपके शरीर की सेल्‍स जारी होने वाले इंसुलिन के लिए अच्छी तरह से प्रतिक्रिया नहीं करती हैं। जो ग्लूकोज टूट गया है वह सेल्‍स में प्रवेश नहीं कर सकता है और इसलिए यह ब्‍लड में बनता है और अंततः टाइप 2 डायबिटीज का कारण बनता है।यहां अपने डाइट पर काम करना सबसे महत्वपूर्ण बात है - चीनी, ब्रेड, बेकरी प्रोडक्‍ट्स जैसे प्रोसेस्‍ड फूड्स को सीमित करें। साबुत अनाज और अनाज जैसे दलिया, बाजरा, ज्वार, छोले, राजमा आदि का विकल्प चुनें। हर एक भोजन में प्रोटीन शामिल करें।

नट्स और बीजों जैसे गुड फैट को शामिल करें और रिफाइंड तेलों का सेवन सीमित करें। किसी भी प्रकार की एक्टिविटी आपके आईआर, इंसुलिन रेजिस्टेंस को कम करने में मदद कर सकती हैं।एक अच्छी रात की नींद और कम तनाव का स्तर भी आपके इंसुलिन रेजिस्टेंस में सुधार करने में मदद करती है।

From Around the web