जाने किस उम्र में बंद हो जाते हैं पीरियड्स , मेनोपॉज़ से शरीर में आते हैं कैसे बदलाव

जाने किस उम्र में बंद हो जाते हैं पीरियड्स , मेनोपॉज़ से शरीर में आते हैं कैसे बदलाव

 
m

सभी जानते हैं महिलाओं को पीरियड्स आते हैं एक उम्र के बाद महिलाओं को मेनोपॉज हो जाता है मेनोपॉज एक महिला के आखिरी पीरियड्स के 12 महीने बाद का समय है. कुछ महिलाओं को मेनोपॉज के लक्षणों से कोई परेशानी नहीं होती है

m

लेकिन कुछ महिलाओं के लिए मेनोपॉज में  गर्म चमक, सोने में परेशानी, दर्दनाक यौन संबंध, जलन, मिजाज और अवसाद होता है . कुछ लोग मेनोपॉज के लक्षणों का इलाज करने के लिए मेडिकल की हेल्प लेते हैं.

p

मेनोपॉज अक्सर 45-55 की उम्र में होता है. मेनोपॉज से शरीर में भी बदलाव आता है. वसा कोशिकाएं बदल जाती हैं और महिलाओं का वजन बढ़ जाता है. मेनोपॉज के दौरान अंडाशय द्वारा बनाए गए एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का उत्पादन बदल जाता है और यह पर्सन टू पर्सन डिपेंड करता है. 

m

धूम्रपान से ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है. यह मेनोपॉज को बढ़ावा देता है जिसका अर्थ है कि आपकी हड्डियों को एस्ट्रोजन द्वारा संरक्षित करने के लिए कम समय है डॉक्टर ऑस्टियोपोरोसिस रोगियों की पहचान करते हैं और उन्हें अच्छे पोषण जैसे प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन डी का पर्याप्त सेवन नियमित व्यायाम धूम्रपान से बचने और शराब का कम सेवन करने की सलाह देते हैं. ये सभी पोस्टमेनोपॉजल महिलाओं के लिए सही हैं.ताकि महिलाऐं स्वस्थ रहे 

From Around the web