क्या आप बादाम छील कर खाते है ? जानिये बादाम खाने का सही तरीका

क्या आप बादाम छील कर खाते है ? जानिये बादाम खाने का सही तरीका

 
.

साइंस के लिए किसी भी फल या ड्राई फ्रूट का छिलका जो कि मुलायम है और खाने योग्य है तो इसे निकालना इसके कुछ पोषक तत्वों का नुकसान करने जैसा है। ऐसे में समझने की जरूरत है कि हमें छिलके सहित बादाम खाना चाहिए जो कि कई बार हम खाते भी हैं। दरअसल, बादाम का छिलका पॉलीफेनोल्स की उपस्थिति के कारण फाइबर से भरपूर होता है, जो कि सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है।आयुर्वेद कड़वे की जगह मीठे बादाम खाने की सलाह देता है।

दरअसल, आयुर्वेद की मानें तो, बादाम छीलकर खाने के फायदे कई हैं। ऐसे बादाम के गर्म और मीठे गुणों को शरीर में वात दोषों को शांत करने की क्षमता के लिए पसंद किया जाता है। वे त्वचा और माइक्रो सर्कुलेटरी चैनलों को चिकनाई देने में मदद करते हैं और शरीर के सभी सात महत्वपूर्ण टीशूज को समर्थन प्रदान करते हैं। छीले हुए बादाम पित्त में सुधार करता और चयापचय को सही करता है।जब आप छिलके सहित बादाम खाते हैं तो इसका फाइबर हृदय रोग को कम करने में मदद करता है।

दरअसल, जानवरों के अध्ययन में पाया गया है कि पॉलीफेनोल्स कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सीकरण को रोकते हैं। यह भी माना जाता है कि रोजाना बादाम खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है। इसलिए आपको छिलके सहित बादाम खाना चाहिए।बादाम को छिलके के साथ खाना फायदेमंद होता है क्योंकि यह फाइबर से भरपूर होता है और इसलिए पाचन में मदद करता है।

ये फाइबर मेटाबोलिक रेट को बढ़ाता है और तेजी से खाना पचाने में मदद करता है। बादाम को छिलके के साथ खाने से पेट में रफेज की मात्रा बढ़ती है जो कि मल त्याग को आसाम बनाने में मदद करता है। ये बॉवेल मूवमेंट को तेज करता है और कब्ज की समस्या से बचाव में मदद करता है।  कुछ बुजुर्ग लोगों को बादाम को छिलके के साथ खाने से पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, बुजुर्गों को बिना छिलके के बादाम खाना चाहिए।

From Around the web