पेरो में इन दो चीज का मिक्सचर लगाने से हो जायेगे सॉफ्ट हील्स,कभी नहीं निकलेगा खून

पेरो में इन दो चीज का मिक्सचर लगाने से हो जायेगे सॉफ्ट हील्स,कभी नहीं निकलेगा खून

 
.

त्वचा की देखभाल हमारे जीवन की कभी न खत्म होने वाली दिनचर्या है। आप इस बात से जरूर सहमत होंगे। चाहे आपकी तैलीय त्वचा हो, शुष्क त्वचा हो, संयोजन त्वचा हो या सामान्य त्वचा हो, आपको विभिन्न तरीकों से देखभाल की आवश्यकता होती है।वहीं सर्दियों में रूखी त्वचा कोई नई बात नहीं है। हमारे हाथ-पैर, चेहरा अक्सर रूखा रहता है और सर्दियों में त्वचा को अधिक हाइड्रेशन और मॉइस्चराइजेशन की जरूरत होती है। अब हम अभी भी चेहरे और हाथों की त्वचा को पोषण देते हैं, लेकिन पैरों को अक्सर नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है।

आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आप दही की मदद से अपने पैरों की गंभीर समस्या से निजात पा सकते हैं। यह फटे पैरों की समस्या होती है, जिसमें खासतौर पर एड़ियां फटने लगती हैं। कई बार इसमें से खून भी निकलने लगता है। हालांकि कुछ चीजों को दही में मिलाकर लगाने से आपको इस समस्या में काफी राहत मिलेगी।

दही में लैक्टिक एसिड होता है, जो कठोर अवयवों से हमारी त्वचा की हीलिंग प्रक्रिया में सहायता करता है। दही आपकी त्वचा को मुलायम, ताजा और नया महसूस कराने में मदद करता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि इसे आजमाने से पहले पैच टेस्ट जरूर कर लें।

दही, नींबू और टी ट्री ऑयल की घरेलू रेसिपी

पैरों को किसी भी तरह के इंफेक्शन से बचाने में दही अच्छी साबित हो सकती है। ताजे दही में अच्छे बैक्टीरिया न केवल फंगस को मारते हैं बल्कि सूखी, खुजली और सूजन वाली त्वचा को भी शांत करते हैं। इसे नींबू और चाय के पेड़ के तेल के साथ मिलाने से मॉइस्चराइजिंग प्रभाव पड़ता है और आपके पैरों को आराम मिलता है।read also:Cancer prevention by nails care:नाखून के अंदर छुपे होते हैं इस कैंसर के पता लगाने का राज

क्या करें-

सबसे पहले गर्म पानी में नींबू का रस डालकर पैरों को कुछ देर के लिए भिगो दें।

इसके बाद अपने पैरों को रगड़कर मृत को हटा दें त्वचा कोशिकायें।

अब एक बाउल में दही, नींबू का रस और टी ट्री ऑयल डालकर अच्छी तरह मिला लें।

इसे पैरों पर लगाकर 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पैरों को गुनगुने पानी से धो लें।

थोड़ा सा टी ट्री ऑयल लें, इससे अच्छी तरह मसाज करें अपने टखनों पर और मोज़े पहनें।

इस तेल को लगाने से भी पैरों में किसी भी तरह के दर्द से राहत मिलती है।

दही की घरेलू रेसिपी

फटी एड़ियों के लिए शहद एक प्राकृतिक उपचार के रूप में काम कर सकता है। शहद में रोगाणुरोधी और जीवाणुरोधी गुण होते हैं। कई अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि शहद घावों को ठीक करने और साफ करने और त्वचा को मॉइस्चराइज करने में मदद कर सकता है। दही एक एक्सफोलिएटर के रूप में भी काम करता है जो पैरों से मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद करता है।

From Around the web