बदाम या मूंगफली - किस्मे ज़्यादा पोषण?

बदाम या मूंगफली - किस्मे ज़्यादा पोषण?

 
.

फिट और हेल्दी रहने के लिए कई लोग रोजाना खाली पेट बादाम खाते हैं, तो कुछ लोग शाम को स्नैक्स के तौर पर मूंगफली खाना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि देश के एक बड़े तबके का मानना है कि मूंगफली और बादाम दोनों खाने से शरीर को एक जैसे ही पोषक तत्व मिलते हैं। यही कारण है कि कुछ लोग मूंगफली को गरीबों का बादाम कहते हैं। हालांकि ये बात 100 प्रतिशत सही नहीं है।

मूंगफली और बादाम के पोषक तत्वों में थोड़ा अंतर होता है। इसलिए आज हम आपको मूंगफली और बादाम के पोषक तत्वों के बीच अंतर बताने जा रहे हैं, साथ ही इस बात की जानकारी भी दे रहे हैं कि दोनों में से कौन सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद है। बादाम खाने के कइ फ़ायदे हैं। वजन घटाने और बढ़ाने, मूड को ठीक करने, कैंसर, हार्ट प्रॉब्लम और डायबिटीज के जोखिम को कम करने के लिए नियमित तौर पर बादाम का सेवन करने की सलाह दी जाती है।नियमित तौर पर बादाम का सेवन करने से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स का लेवल बढ़ता है, जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है।

बादाम में विटामिन ई प्रचुर मात्रा में होता है, जो कि आपकी दिमागी क्षमता बढ़ाता है।बादाम का सेवन करने से बाल झड़ने, टूटने और कमजोर होने की समस्या भी कम हो जाती है।मूंगफली में विटामिन्स, मिनरल्स, न्यूट्रिएंट्स और एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। इसके अलावा मूंगफली में विटामिन-बी, कॉम्प्लेक्स, नियासिन, राइबोफ्लेविन, थायमिन, विटामिन B6, विटामिन B9 आदि पाए जाते हैं, जो शरीर को सेहतमंद रखने के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं।

मूंगफली का सेवन करने से टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है। मूंगफली को लो-ग्लाइसेमिक फूड कहा जाता है, जो शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने नहीं देता।मूंगफली में पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो शरीर की सूजन को कम करने का काम करता है।

From Around the web