FIFA - फुटबॉल वर्ल्ड कप-समलैंगिकों के सपोर्ट में हैं 8 टीमें , फीफा लगा सकती है बैन

FIFA - फुटबॉल वर्ल्ड कप-समलैंगिकों के सपोर्ट में हैं 8 टीमें , फीफा लगा सकती है बैन

 
p

फीफा वर्ल्ड कप में LGBT+ विवाद शुरू हो गया है। मैच के दौरान इंग्लैंड समेत 8 टीमों ने समलैंगिक संबधों का सपोर्ट करने का फैसला किया है। इंग्लैंड के कैप्टन हैरीकेन ने कहा- 'वो ईरान के खिलाफ अपने पहले मुकाबले में रेनबो बैंड पहनेंगे जो कि LGBT+ कम्युनिटी का सिंबल है।' FIFA ने कहा- 'अगर कोई भी टीमें या खिलाड़ी ऐसा करते हैं तो यह नियमों का उल्लंघन होगा। FIFA खिलाड़ियों पर बैन भी लगा सकता है।

वर्ल्ड कप में LGBT+ विवाद कहां से शुरू हुआ?

l

इंग्लैंड के कप्तान हैरीकेन और पूरी टीम LGBT+ कम्युनिटी यानी समलैंगिक संबंधों के सपोर्ट में 'वन लव' बैंड पहनकर मैच खेलेंगे । इंग्लैंड का पहला मैच इस्लामिक देश ईरान से है जहां समलैंगिक संबंध बैन हैं। फीफा वर्ल्ड कप दोहा में हो रहा है वहां भी समलैंगिक संबंध बैन हैं। विवाद यहीं से शुरू हुआ है।

इंग्लिश कैप्टन हैरीकेन ने वन लव बैंड पर क्या बयान दिया?

h

हैरीकेन ने कहा- 'टीम, स्टाफ और ऑर्गनाइजेशन के तौर पर हमने यह स्पष्ट कर दिया है कि हम वन लव आर्म बैंड पहनना चाहते हैं। फीफा से बातचीत चल रही है। वो हमें मैच से पहले फैसला बता देंगे। हमने अपनी ओर से इच्छा स्पष्ट कर दी है।

FIFA हैरीकेन पर क्या एक्शन ले सकता है?

h

ईरान के खिलाफ होने वाले मैच में अगर हैरी केन रेनबो बैंड पहनकर उतरते हैं तो उन्हें ग्राउंड पर आते ही रेफरी यलो कार्ड दिखा सकता है।  दूसरे मैच में भी हैरीकेन अगर ऐसा ही करते हैं तो उन्हें फिर यलो कार्ड दिखाया जा सकता है। फिर वे तीसरे मैच में नहीं खेल पाएंगे। फीफा मैच से पहले ड्रेसिंग रूम में अपनी टीम भेजकर खिलाड़ियों से बैंड हटाने को कह सकता है। इसके अलावा जुर्माना या बैन भी लगाया जा सकता है। 

From Around the web