World Emoji Day 2022 - कहां से आए इमोजी , जानें इमोजी से जुड़े अनसुने किस्से

World Emoji Day 2022 - कहां से आए इमोजी , जानें इमोजी से जुड़े अनसुने किस्से

 
p

सोशल मीडिया और स्मार्टफोन के जमाने में लगभग हर व्यक्ति चैटिंग में इमोजी का इस्तेमाल जरूर करता है 2022 में इमोजी हर जगह हैं हम हर रोज व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर इनका खूब इस्तेमाल भी करते हैं इमोजी ने कम्यूनिकेशन को और भी आसान बना दिया है वे कम्यूनिकेट करने का सबसे सुविधाजनक तरीका बन गए हैं क्योंकि इमोजी ने स्पष्ट रूप से शब्दों का उपयोग कम कर दिया है इसका प्रभाव कम्यूनिकेशन के सभी प्लेटफॉर्म पर है

p

इमोजी का प्रभाव इतना अधिक है कि अब इसे मनाने के लिए एक विशेष दिन है हर साल 17 जुलाई के दिन पूरी दुनिया में इमोजी डे मनाया जाता है आज जानते हैं इमोजी के जन्म और इससे जुड़ें अनसुने किस्सों के बारे में
इमोजी को पिक्टोग्राम, लोगोग्राम, आइडियोग्राम या स्माइली भी कहा जाता है टेक्स्ट मैसेजिंग के इस विजूअल मोड का पता पहली बार 1982 में लगा था जब कंप्यूटर वैज्ञानिक स्कॉट फहलमैन ने सुझाव दिया था कि :-) और :-( संभावित रूप से भाषा को रिप्लेस कर सकते हैं इसे बाद में इमोटिकॉन्स कहा गया 

e

इमोजी के बढ़ते महत्व को ध्यान में रखते हुए आईओएस और एंड्रॉइड के साथ-साथ व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम जैसे एप्स भी अपने मौजूदा इमोजी में समय-समय पर नए कैरेक्टर एड करते rhte हैं और उनका मॉडिफिकेशन भी कर रहे हैं जापान के एक इंजीनियर शिगेताका कुरीता ने इमोजी को जन्म दिया था उन्होंने इमोजी के 176 सेट तैयार किए थे जो छोटे-छोटे डॉट के रूप में थे उन्होंने पहला इमोजी टेलीकॉम कंपनी एनटीटी डोकोमो के लिए बनाया था ताकि इमोजी वाली फोटो से लोगों को एट्रेक्ट किया जा सके

p

17 जुलाई 2014 को जेरेमी बर्ग ने इमोजी को एक विशेष पहचान दिलाने और इसकी उपलब्धियों को पूरी दुनिया तक पहुंचाने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय इमोजी डे मनाने की शुरूआत की और पहला इमोजी डे 2014 में मनाया गया इस दिन इंस्टेंट मैसेजिंग एप्लिकेशन और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के साथ-साथ एपल और एंड्रॉयड भी नई इमोजी इन्वेंट करते हैं 2022 में हमारा प्यारा इमोजी आठ साल का हो गया है और साल 2014 से अब तक करीब 3 हजार से ज्यादा इमोजी इन्वेंट किए जा चुके हैं 

From Around the web