National Parents Day - क्यों मनाया जाता है पेरेंट्स डे, जानें इस दिन का इतिहास और महत्व

National Parents Day - क्यों मनाया जाता है पेरेंट्स डे, जानें इस दिन का इतिहास और महत्व

 
p

माता और पिता को भगवान का दर्जा दिया जाता है माता पिता ही हमारे जीवन का सबसे बड़ा सपोर्ट सिस्टम होते हैं हर साल माता-पिता के प्यार और आशीर्वाद के लिए पैरेंट्स डे मनाया जाता है आइए जानते हैं पैरेंट्स डे की शुरुआत कब हुई और क्या है इस दिन का इतिहास और महत्त्व 

npd

नेशनल पेरेंट्स डे मनाने की शुरुआत 8 मई 1973 को दक्षिण कोरिया में हुई थी दक्षिण कोरिया में इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए 8 मई का दिन चुना गया था पेरेंट्स डे को ऑफिशियली सेलिब्रेट करने की शुरुआत 1994 में अमेरिका में हुई थी इस दिन को जब मनाया गया तो वह दिन जुलाई का चौथा रविवार था इस तरह से यह हर साल जुलाई के चौथे रविवार को मनाया जाने लगा ये दिन अलग अलग देशों में अलग अलग दिन मनाया जाता है फिलीपींस में दिसंबर महीने के पहले सोमवार को वियतनाम में 7 जुलाई को रूस और श्रीलंका में 1 जून को ग्लोबल पेरेंट्स डे मनाया जाता है

p

मां और पिता दोनों ही बच्चों के लिए भगवान का ही रूप होते हैं बच्चों पर प्यार की भावना से सबकुछ न्योछावर कर देना पेरेंट ही कर सकते हैं हर अच्छे और बुरे समय में साथ खड़े रहना बच्चों के लिए सब कुछ दे देना मां और पिता को जीवन का सबसे बड़ा उपहार माना जाता है उनकी जगह और कोई नहीं ले सकता इसलिए पेरेंट्स डे को मनाया जाता है

p

पेरेंट्स डे पर आप अपने पेरेंट को उनकी पसंद की डिश बनाकर उन्हें लंच या डिनर पर स्पेशल सरप्राइज दें सकते हैं उन्हें कहीं घूमाने के लिए भी ले जा सकते हैं पिकनिक पर पूरे परिवार के साथ जा सकते हैं उनकी जरूरत का कोई सामान उन्हें तोहफे में दे सकते हैं उनकी पसंद की कोई पुरानी मूवी लगाकर साथ में स्नैक पार्टी करते हुए सब साथ में बैठकर देख सकते हैं

From Around the web