ये है गौतम अडाणी का सक्सेस फॉर्मूला - लंच परिवार के साथ करते हैं, वहीं हर मामले हल कर लेते हैं

ये है गौतम अडाणी का सक्सेस फॉर्मूला - लंच परिवार के साथ करते हैं, वहीं हर मामले हल कर लेते हैं

 
a

गौतम अडाणी दुनिया के नौवें सबसे अमीर शख्स हैं वे लगातार सफलता के शिखर को छू रहे हैं वे कहते हैं- हमारे यहां नियम है कि परिवार के सभी लोग लंच की टेबल पर साथ बैठते हैं जो भी मुद्दे हों वहीं हल कर लेते हैं संदेश स्पष्ट है- व्यस्तता जीवन का अंग है लेकिन परिवार के लिए समय निकालना भी जरूरी है 

g

अडानी जी कहते हैं - अहमदाबाद मेरी जन्मभूमि है इसी शहर ने व्यापार-धंधे में मुझे पाला-पोसा है गुजरात मेरा परिवार है पिताजी ने बचपन में समझाया था कि हमारे हाथ की पांचों अंगुलियां भगवान ने एक समान नहीं दी हैं लेकिन जब इन्हें एकजुट कर मुट्ठी बांधते हैं तो ये ही ताकत बनती है ये सीख और समझाइश परिवार में आज भी समाहित है सालों से परिवार के सदस्य हर दिन लंच ऑफिस में साथ करते हैं सभी विषयों पर चर्चा से संवाद बना रहता है 

ga

अडाणी समूह ने 2030 तक 70 अरब डॉलर निवेश का संकल्प किया है भौगोलिक विशेषता के चलते देश में सूर्य की रोशनी प्रचुर मात्रा में है इसके भरपूर उपयोग के उद्देश्य से अडानी ग्रुप ने क्लीन और ग्रीन एनर्जी सेक्टर में कदम रखा है वे सोलर एनर्जी और संबद्ध उपकरणों के उत्पादन में भी प्रवेश कर चुके हैं 

p

अडाणी फाउंडेशन 16 राज्यों के लगभग 2400 से अधिक गांवों की 40 लाख आबादी की गुणवत्तापूर्ण प्राथमिक शिक्षा, जन स्वास्थ्य, स्वरोजगार और कुपोषण उन्मूलन के लिए काम कर रहा है स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत 11 राज्यों के एक लाख लड़के-लड़कियों को ट्रेनिंग दे रहे हैं महामारी के समय पैदा हुई ऑक्सीजन तंगी में अडाणी फाउंडेशन ने लॉजिस्टिक चैनल के जरिए ऑक्सीजन आयात कर कई राज्यों में ऑक्सीजन की आपूर्ति भी की है 

From Around the web