राजस्थान में 40 डिग्री तक पहुंचा पारा - अगले 24 घंटों मैं इन जिलों में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया

राजस्थान में 40 डिग्री तक पहुंचा पारा - अगले 24 घंटों मैं इन जिलों में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया

 
.

राजस्थान में अभी मानसून विदा नहीं हुआ है और बारिश का सिलसिला धीमा पड़ने से गर्मी के बेहद तेज हो रही हैं। हालात ऐसे  है कि तापमान 40 डिग्री पार पहुंच गया है।  सबसे ज्यादा तापमान गुरुवार को चूरू में 40.2 डिग्री दर्ज किया गया है। प्रदेश के 9 जिलों में शनिवार को बारिश का अलर्ट जारी किया  है।चूरू, भीलवाड़ा और उदयपुर को छोड़कर गुरुवार को प्रदेश के सभी शहरों में दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा। सीकर, चित्तौड़गढ़, नागौर और अलवर में रात को न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा था।

जबकि शेष शहरों में पारा 25 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया। सबसे गर्म रात फलौदी में रही, जहां  न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस से नीचे नहीं गया था।जयपुर मौसम केन्द्र से मिली रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को भी गर्मी का असर तेज था। गुरुवार को अजमेर, जयपुर, कोटा, उदयपुर, अलवर, फलौदी में 1 से 1.5, सीकर, जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर, बांसवाड़ा, नागौर और जालोर में 3 डिग्री सेल्सियस तक तापमान बढ़ा । सबसे ज्यादा बढ़ोतरी तो धौलपुर जिले में हुई, जहां 24 घंटे में अधिकतम तापमान 31.6 डिग्री सेल्सियस से बढ़कर 39 डिग्री पर पहुंचा।

बीकानेर और चूरू में भी दिन का अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया है। सबसे ज्यादा तापमान बीकानेर मेरा है जो कि 39.6 डिग्री सेल्सियस  था।पिछले 24 घंटे में राज्य के कुछ हिस्सों में स्थानीय स्तर पर हल्की बारिश भी हुई। गंगानगर, झालावाड़, बांसवाड़ा और सवाई माधोपुर के कुछ हिस्सों में 3 से लेकर 31MM तक की बरसात हुई । झालावाड़ के पिड़ावा में 28MM, झालरापाटन में 20, डग में 15, गंगानगर के हिंदूमलकोट में 31 और लालगढ़ जाटान में 13, सवाई माधोपुर के गंगापुरसिटी में 14, बामनवास में 11 और बांसवाड़ा के कुशलगढ़ में 6MM बरसात हुई थी।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार,  11 सितंबर से तेज गर्मी से राहत मिलने की संभावनाएं है। बंगाल की मध्य खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बन चुका है।  अगले 24 घंटों में कम दबाव के क्षेत्र में बादल समुद्र तट को पार करके सेंट्रल इंडिया के राज्यों की तरफ बढ़ेगे। इस सिस्टम से ओडिशा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश के साथ दक्षिण राजस्थान के कुछ हिस्सों में भी अच्छी बारिश होने की संभावनाएं है। इस सिस्टम के बाद एक दूसरा नया सिस्टम भी विकसित होने की  संभावनाए बताई जा रही है।

From Around the web