रतन टाटा ने फ्लाइट में पास बैठे शख्स की किस्मत बदली - जानिए उनकी कहानी

रतन टाटा ने फ्लाइट में पास बैठे शख्स की किस्मत बदली - जानिए उनकी कहानी

 
.

हेल्थ केयर इंडस्ट्री की बेहतरीन कंपनी Chrys Capital के पार्टनर संजीव कॉल में दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा से जुड़ा एक किस्सा अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लोगों के साथ शेयर किया। उन्होंने बताया कि कैसे रतन टाटा ने स्टार्टअप शुरू करने पर संजीव कॉल कि मदद की थी।  संजीव कॉल Linkedin  पर लिखते हैं कि 2004 में वे जेट एयरवेज की फ्लाइट मैं बैठकर मुंबई से दिल्ली तक का सफर तय कर रहे थे।

वह अपने स्टार्टअप के लिए निवेश की तलाश में थे और इस  सिलसिले में वह उस दिन मुंबई में एक बड़ी कंपनी से फंडिंग के लिए गुजारिश करने गए थे।  लेकिन उनकी मीटिंग सही ना होने की वजह से वह निराश थे। इसी बीच प्लेन में शांति छा जाती है और संजीव कॉल जब अपनी नजरें उठाकर देखते हैं तो सामने टाटा ग्रुप के मालिक रतन टाटा उनकी बगल की सीट पर बैठे होते हैं। रतन टाटा को देख संजीव हैरान हो गए कि इतनी बड़ी हस्ती उनके पास आकर  बैठी है। हालांकि कुछ देर बाद वह फिर से अपनी पीपीटी पर नजरें घुमाने लगे।


कुछ देर बाद गलती से संजीव की टाइ‌पर जूस गिर जाता है यह देख टाटा  तुरंत नैपकिन से जूस को साफ करने में संजीव की मदद करने लगते हैं। रतन टाटा ने जब उनकी उदासी का कारण पूछा तब निवेश के लिए हुई मीटिंग खराब जाने की बात उन्होंने रतन टाटा को जाहिर करी।  कहा कि भारत दो साइंटिस्ट होने जा रहा है जो देश की पहलीं Pharmaceutical Research and Development Company बनाना चाहते हैं। 

 संजीव कॉल की बात सुनकर रतन टाटा ने उन्का ढांढस बंधाया और संजीव का नंबर मांगा। टाटा ने कहा कि वह जल्द ही उन्हें अपने ग्रुप की ओर से कॉल करवाएंगे। उसी रात 9:00 बजे संजीव कॉल के पास टाटा ग्रुप के जनरल मैनेजर का कॉल आया।  मैनेजर ने उन दो अमेरिकी साइंटिस्ट  साइंटिस्ट कि अगले दिन मुंबई में मीटिंग रखी। 

From Around the web