आरबीआई ने उल्लंघन का हवाला देते हुए 9 सहकारी बैंकों पर मौद्रिक जुर्माना लगाया

आरबीआई ने उल्लंघन का हवाला देते हुए 9 सहकारी बैंकों पर मौद्रिक जुर्माना लगाया

 
.
आरबीआई के प्रवर्तन कार्यों का संचालन प्रवर्तन विभाग द्वारा किया जाता है। पर्यवेक्षी प्रक्रिया से प्रवर्तन कार्रवाई को अलग करने के लिए अप्रैल, 2017 में आरबीआई की ईएफडी की स्थापना की गई थी।
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 14 नवंबर को कहा कि उसने विभिन्न उल्लंघनों के लिए नौ सहकारी बैंकों पर मौद्रिक दंड लगाया है।इन बैंकों में बरहामपुर सहकारी शहरी बैंक, केंद्रपाड़ा शहरी सहकारी बैंक, जमशेदपुर शहरी सहकारी बैंक, कृष्णा मर्केंटाइल सहकारी बैंक, रेणुका नागरिक सहकारी बैंक जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित, उस्मानाबाद जनता सहकारी बैंक, संतरामपुर शहरी सहकारी बैंक और नवानगर सहकारी बैंक शामिल हैं।

आरबीआई ने कहा कि नियमों के उल्लंघन का खुलासा करने वाले केंद्रीय बैंक द्वारा निरीक्षण के बाद जुर्माना लगाया गया था।यह सहकारी बैंकों पर आरबीआई की सख्ती का ताजा उदाहरण है।आरबीआई के प्रवर्तन कार्यों का संचालन प्रवर्तन विभाग द्वारा किया जाता है। पर्यवेक्षी प्रक्रिया से प्रवर्तन कार्रवाई को अलग करने के लिए अप्रैल, 2017 में आरबीआई की ईएफडी की स्थापना की गई थी। ईएफडी निरीक्षण रिपोर्ट, जोखिम मूल्यांकन रिपोर्ट और जांच रिपोर्ट से कार्रवाई योग्य उल्लंघनों की पहचान करता है।

इन बैंकों पर लगा जुर्माना

आरबीआई की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, केंद्रीय बैंक ने बेरहामपुर सहकारी शहरी बैंक (ओडिशा) पर 3.10 लाख रुपये, उस्मानाबाद जनता सहकारी बैंक, महाराष्ट्र पर  2.5 लाख रुपये और संतरामपुर अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, गुजरात पर दो लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. इसके अलावा, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित, मध्य प्रदेश, जमशेदपुर शहरी सहकारी बैंक लिमिटेड, झारखंड और रेणुका नागरिक सहकारी बैंक मर्यादित, छत्तीसगढ़ पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

आरबीआई की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, विज्ञप्ति के अनुसार, नवानगर को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, गुजरात पर 25,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इसके साथ ही, कृष्णा मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, मध्य प्रदेश और केंद्रपाड़ा अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, ओडिशा पर भी 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है.अगर आपका खाता भी इनमें से किसी भी बैंक में है तो ये खबर आपके काम की है।

From Around the web