Indian Army Day - आज है भारतीय सेना दिवस, जानें क्या है इस दिन का इतिहास

Indian Army Day - आज है भारतीय सेना दिवस, जानें क्या है इस दिन का इतिहास

 
a

आज भारतीय सेना दिवस है। हर साल 15 जनवरी को भारतीय सेना दिवस मनाया जाता है। आज देश 75वां भारतीय सेना दिवस मना रहा है। नई दिल्ली और सभी सेना मुख्यालयों में सैन्य परेड, सैन्य प्रदर्शियां और अन्य रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन हो रहा है। देश की थल सेना की वीरता, शौर्य और कुर्बानियों को याद किया जा रहा है।

सेना के पहले भारतीय लेफ्टिनेंट जनरल?

जब देश अंग्रेजों के अधीन था तभी भारतीय सेना का गठन हो गया था। उस समय सेना के वरिष्ठ अधिकारी ब्रिटिश हुआ करते थे। 1947 में देश की आजादी के बाद भी सेना के अध्यक्ष ब्रिटिश मूल के ही थे। 1949 में ब्रिटिश कमांडर इन चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर के जाने के बाद उनकी जगह एक भारतीय ने ली। लेफ्टिनेंट जनरल के एम करियप्पा आजाद भारत के पहले भारतीय सैन्य अधिकारी बने। 

15 जनवरी को ही क्यों होता है सेना दिवस

15 जनवरी को ही भारतीय सेना दिवस क्यों मनाते हैं। देश के पहले भारतीय सेना प्रमुख फील्ड मार्शल केएम करियप्पा 15 जनवरी को ही इस पद पर आसीन हुए थे। यह दिन इतिहास में काफी महत्वपूर्ण रहा। देश की सेना का नेतृत्व एक भारतीय के हाथों में पहुंचा। इसलिए हर साल 15 जनवरी को भारतीय सेना दिवस के तौर पर मनाया जाने लगा।

alsoreadMiss Universe 2022 - यूएसए की गैब्रिएल बनीं मिस यूनिवर्स, हरनाज संधू ने पहनाया ताज

भारतीय सेना की उपलब्धि

1947-48 में कश्मीर युद्ध हुआ था,जब पाकिस्तानी सेना ने कश्मीर को छीनने के इरादे से आक्रमण कर दिया था। भारतीय सेना ने कश्मीर को बचाया था।

1962 में चीन ने भारतीय हिमालयी सीमा पर हमला कर दिया था। भारत के सशस्त्र बलों ने सीमा पर मुंहतोड़ जवाब दिया।

1965 में भारत पाकिस्तान का युद्ध हुआ। भारतीय सेना ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया और युद्ध में पराजित किया।

1971 में बांग्लादेश युद्ध हुआ। भारत ने पाकिस्तान के पूर्वी इलाके पर कब्जा करके 90000 कैदियों को आजादी दिलाई। उस क्षेत्र को बांग्लादेश के तौर पर एक स्वतंत्र पहचान दिलाई।

1999 में पाकिस्तानी सेना के खिलाफ ऑपरेशन विजय चलाया गया। यह कारगिल युद्ध के नाम से भी मशहूर है। 

From Around the web