Income Tax - 8 लाख सालाना कमाने वाला ग़रीब तो 2.5 लाख कमाने वाले पर Income TAX क्यों ? हाईकोर्ट ने सरकार से माँगा जवाब

Income Tax - 8 लाख सालाना कमाने वाला ग़रीब तो 2.5 लाख कमाने वाले पर Income TAX क्यों ? हाईकोर्ट ने सरकार से माँगा जवाब

 
p

आज के समय में भारत में हर कोई टैक्स देता है। जिसकी कमाई सालाना ढाई लाख से ज्यादा है वे सब टैक्स भर रहे हैं। अगर कोई टैक्स नहीं भरता है तो सरकार उसपे कार्यवाही करती है। भारत में इनकम टैक्स से लेकर अन्य प्रकार के सारे टैक्सों को मिलाने पर कमाए हुए पैसे के आधे से ज्यादा हिस्सा सरकार के पास दोबारा से पहुंच जाता हैं। आप जो पानी पीते हैं उससे भी सरकार टैक्स वसूलती है। शौचालय से भी टैक्स लिया जाता हैं। 

8 लाख कमाने वाला EWS

ews

भारत में इकोनॉमिकली वीकर सेक्शन अर्थात EWS जिसे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग भी कहा जाता है। इसका सालाना 8 लाख का कमाई है। भारत में ढाई लाख से ऊपर कमाने वाला हर एक व्यक्ति इनकम टैक्स भरता है। 

हाई कोर्ट में डाली गई है याचिका 

hc

मद्रास हाई कोर्ट में याचिका डाली गई है कि जब 8 लाख सालाना कमाने वाला व्यक्ति आर्थिक रूप से कमजोर है तो 2.5 लाख रुपए कमाने वाले व्यक्ति से सरकार टैक्स क्यों ले रही है। इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए हाईकोर्ट ने सरकार को नोटिस जारी किया है कि वह इस बारे में जानकारी दें। यह भी बताएं कि 2.5 लाख से ज्यादा रुपए कमाने वाले लोगों के ऊपर टैक्स क्यों डाला गया है। 

EWS का है 8 लाख का लिमिट 

t

EWS का 8 लाख का लिमिट है। वह पूरे परिवार का लिमिट बताया जाता है। लेकिन अब यह संभावना है कि परिवार का मतलब कई जगहों पर एक कमाने वाले इंसान भी होते है। 

From Around the web