UPSC में 129 रैंक लाने वाली सर्जना यादव को कैसे मिला यह पद

UPSC में 129 रैंक लाने वाली सर्जना यादव को कैसे मिला यह पद

 

सर्जना यादव ने साल 2019 यूपीएससी परीक्षा में 126 वी रैंक हासिल की थी और इनको आईएएस का पद मिला था, लेकिन यहां सबसे जरूरी बात यह है कि सर्जना यादव ने तैयारी के दौरान किसी भी कोचिंग इंस्टिट्यूट का सहारा नहीं लिया था। बल्कि self-study के दम पर ही इन्होंने इस परीक्षा में बुलंदियों को छुआ था।परीक्षा में पास होने के बाद उन्होंने कहा था कि यह अभ्यर्थी पर निर्भर करता है।यूपीएससी की परीक्षा में हर साल लाखों अभ्यर्थी अपनी किस्मत आजमाने बैठते हैं।

सर्जना यादव (Sarjana Yadav) ने साल 2019 में यूपीएससी की परीक्षा पास की थी और सबसे जरूरी बात यह है कि उन्होंने किसी भी कोचिंग संस्थान का सहारा नहीं लिया था, बल्कि घर पर रहकर ही पढ़ाई की बदौलत यूपीएससी की परीक्षा में सफल हुई थी। बहुत सारे ऐसे लोग होते हैंसर्जना यादव बताती हैं उन्होंने इंजीनियरिंग में स्नातक किया है। इंजीनियरिंग करने के बाद वे ट्राई में रिसर्च ऑफिसर के तौर पर काम करने लग गई थी।

इस दौरान इनको यहां इन्हें ठीक ठाक सैलरी मिलती थी ये बताती है इन्होंने नौकरी के साथ-साथ इस परीक्षा को दिया था लेकिन पहले दो प्रयास में उन्हें सफलता मिली थी। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और लगातार मेहनत करती रही। वहीं तीसरे प्रयास में इनको इस परीक्षा में सफलता मिल गई और वह आईएएस बन गई। यादव कहती हैं कि उन्होंने आखिरी प्रयास की तैयारी पूरी शिद्दत के साथ की थी।

उनको कुछ समय के लिए नौकरी भी छोड़नी पड़ी थी। जो कोचिंग करने के बावजूद भी परीक्षा में असफल हो जाते हैं। मेरा मानना है कोचिंग से जरूरी हमें अपनी रणनीति बनानी चाहिए। आगे ये कहती हैं कि अगर किसी को क्लास का माहौल ज्यादा अच्छा लगता है, तो वह कोचिंग ज्वाइन करके भी इस परीक्षा के लिए तैयारी कर सकता है।

From Around the web