छत्तीसगढ़ के किसानो के लिए बड़ी राहत -एग्री एम्बुलेंस और एग्रीकल्चर ड्रोन की हुई लॉन्चिंग

छत्तीसगढ़ के किसानो के लिए बड़ी राहत -एग्री एम्बुलेंस और एग्रीकल्चर ड्रोन की हुई लॉन्चिंग

 
.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कंप्लीट एग्रीकल्चर ड्रोन सॉल्यूशन एवं एग्री एम्बुलेंस की लांचिंग की है। बताया जा रहा कि इससे किसानों को काफी लाभ होगा और फसलों की उत्पादन लागत में भी कमी आएगी। इससे किसानों की आय में इजाफा होगा। छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से एग्री एम्बुलेंस की लांन्चिंग हो चुकी है और राज्य के किसानों के लिए ये शुरू कर दी गई है। इस एग्री एम्बुलेंस से किसानों को जो सुविधाएं या लाभ प्राप्त होंगे, वे इस प्रकार से हैं-ये एग्री एम्बुलेंस गांव-गांव में घुमकर किसानों की कृषि संबंधी समस्याओं का निदान करेगी।

एग्री एम्बुलेंस में एग्रीकल्चर लैब की सुविधा भी होगी जिसमें किसान साइल यानि मिट्टी की जांच आदि करा सकेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में दवा का छिड़काव करने के लिए किसान समूहों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके लिए समूह के युवाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा। इससे किसानों को समय पर फसलों में कीटनाशक के छिड़काव में मदद मिलेगी। इससे किसान खेती का काम करने के बाद बचे समय में दूसरी आजिविका पर काम कर पाएंगे।

इससे युवा किसानों को अतिरिक्त आमदनी भी होगी।  इसमें जैविक खाद की उपलब्धता होगी जिससे किसानों को सस्ती दर पर जैविक खाद मिल सकेगा।इससे किसान समय पर फसल उपजा सकेंगे। एग्री ड्रोन की मदद से किसानों के खेत में कम समय में कीटनाशक दवाओं का छिड़काव किया जा सकेगा।  इस ड्रोन के माध्यम से आधे घंटे में करीब 4 एकड़ क्षेत्रफल तक के क्षेत्रफल में आसानी से छिड़काव किया जा सकता है।

इस ड्रोन मशीन की सहायता से दवा की मात्रा का भी निर्धारण किया जा सकेगा। इस ड्रोन के प्रयोग से किसानों के समय की बचत होगी जिससे उनकी आय बढ़ेगी। बता देंं कि ये मशीन किसान समूह में काम करेगी। इस ड्रोन की सहायता से राज्य के करीब 20 गांवों में दवा, खाद और कीटनाशक का छिड़काव किया जा सकेगा। ड्रोन पर भी किसानों को सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाएगा।

From Around the web