Bhramshastra:लोगों ने भ्रमशास्त्र को लेकर दी टिप्पणी,कहा लिखाई है कमजोर

Bhramshastra:लोगों ने भ्रमशास्त्र को लेकर दी टिप्पणी,कहा लिखाई है कमजोर

 
.

शान की शुरुआत अमिताभ बच्चन की बारी आवाज से की गई है उसके साथ सेट किए गए एनिमेशन अपना मयार सेट कर देती है। उसके बाद शाहरुख खान की एंट्री की गई है जो फिल्म की उम्मीदों को बढ़ा देता है। फिल्म की शुरुआत तो बहुत ही अच्छी तरह से हुई है। परंतु फिर एकदम से वक्त बदल जाता है। धीरे-धीरे करके लव स्टोरी और सॉन्ग आ जाता है और फिर अरमान धराशाई हो जाते हैं। बीच-बीच में ग्रिपिंग सीक्वेंस आते हैं। इंटरवल से पहले वाली फिल्म को जीतना बेहद मुश्किल हो जाता है। इंटरवल के बाद की फिल्में ऐसा प्रतीत होता है मानो जैसे कि कोई दूसरी फिल्म ही चालू कर दी हो।

Brahmastra' trailer unveiled: Ranbir Kapoor-Alia Bhatt starrer promises  fantastical love story | Deccan Herald

फिल्म के क्लाइमेक्स तक रुकने का तो मन भी नहीं करता है। परंतु सेकंड हाफ फर्स्ट हाफ से तो बहुत बेहतर है। लोगों द्वारा कहा जा रहा है कि फिल्म को आधी घंटा छोटा और भी किया जा सकता था। ब्रह्मास्त्र रिलीज होने से पहले बीएफएच पर इसकी खूब चर्चा की गई थी। इस फिल्म में विजुअल इफेक्ट के हर हिस्से पर खास ध्यान दिया गया है। छोटी-छोटी डिजिटल इन पर भी काम किया गया है। इस फिल्म की स्टोरी इतनी अच्छी नहीं है जितनी की होनी चाहिए थी। इस फिल्म के कई सारे पेज ढीले छूट गए हैं। स्क्रीन प्ले खुदा ने लिखा है। इन्होंने फिल्म की स्टोरी के बजाय टेक्निकल लास्ट पेज पर ज्यादा ध्यान दिया है।

Brahmastra makers unveil Alia Bhatt's FIRST look from Brahmastra on her  29th birthday. Watch - Movies News

इस फिल्म को बनाने के लिए उन्होंने सही समय नहीं दिया।इस फिल्म के डायलॉग हुसैन दलाल ने लिखे हैं। उनके लिखे हुए डायलॉग ही इस मूवी का सबसे ज्यादा बिग पॉइंट है। लोगों ने ऐसा भी कहा कि ऐसे कई संवाद थे जिसका बेमतलब में ही इस्तेमाल किया गया। कहा जा रहा है कि प्रीतम का म्यूजिक सही है। बैकग्राउंड म्यूजिक ऐक्शन सीक्वेंस में बढ़िया सामान बनता है। इस मूवी में सिनेमैटोग्राफी भी ढंग से की गई है। और एडिटिंग भी अच्छी है। कहा जा रहा है कि रणबीर कपूर ने शिवा के रूप में अच्छा काम किया है। उन्होंने पूरी कोशिश की कि वह ओवरएक्टिंग ना करें।

Brahmastra Trailer: is it an illusion or real, fans saw a glimpse of Srk in  the trailer of Brahmastra । क्या ये आंखों का धोखा है, ब्रह्मास्त्र के  ट्रेलर में भी दिखी

परंतु आलिया इन सब में ओवरएक्टिंग का शिकार हो गई है। अमिताभ बच्चन ने भी गुरुजी के रोल में अच्छा काम किया है। जितनी देर शाहरुख खान स्क्रीन पर है उतनी देर उन्होंने भी अपना रोल बहुत ही बखूबी निभाया है प्रोग्राम मोनी रॉय ने भी अपना रोल अच्छे से किया है। कुल मिलाकर आखिर में यही बताया जा रहा है कि यह लिखाई के मामले में ही कमजोर है इसके अलावा अच्छी बताई जा रही है। कहा जा रहा है कि यह मूवी थिएटर एक्सपीरियंसिंग वाली मूवी है और इससे देखा जा सकता है।

From Around the web