Mughals - मुगल बादशाह रात भर टिकने के लिए खाते थे तीतर बटेर, इन चीजों का भी करते थे सेवन

Mughals - मुगल बादशाह रात भर टिकने के लिए खाते थे तीतर बटेर, इन चीजों का भी करते थे सेवन

 
m

कुछ बादशाह और नवाब ऐसे भी थे जो अपनी अनैतिकता के लिए जाने जाते थे। वह तरह-तरह के हथकंडे अपनाता है ताकि वह बूढ़ा न हो और अपने पौरूष को बनाए रखे। अकबर के हरम में 5000 महिलाएं थीं। हैदराबाद के निजाम मीर उस्मान के महल में 86 रानियां रहती थीं। शाहजहाँ, मोहम्मद शाह और उलुद्दीन खिलजी सहित कई बादशाहों के महिलाओं के साथ संबंध होने के बारे में जाना जाता है। 

शक्ति बढ़ाने के लिए तीतर बटेर का सेवन

कहानियों में आयुर्वेद और यूनानी नुस्खों का जिक्र किया गया है जिसे पुराने बादशाह अपनी मर्दाना ताकत को बढ़ाने के लिए प्रयोग करते थे। तीतर बटेर से लेकर शक्ति वर्धक दवाइयों तक का किस्सा दीवान जर्मनी दास ने अपनी किताब ‘महाराजा’ में लिखा है। ‘पटियाला के महाराजा यौन संबंध बनाने के लिए परेशान रहते थे। मर्दाना ताकत को बढ़ाने के लिए कभी तीतर बटेर खाते तो कभी शक्ति वर्धक दवाइयों का सेवन करते थे। 

गर्म तासीर का करते थे भोजन

नवाब और बादशाह गर्म तासीर का मांस खाते थे। खजूर, लहसुन, प्याज और अदरक भी उन्हें खिलाया जाता था। गर्म तासीर वाली यह चीजें शरीर में मर्दाना ताकत को बढ़ाती थी। 

उबला हुआ गोश्त और सोने की भस्म का सेवन

अवध के नवाब वाजिद अली शाह का एक किस्सा मर्दाना ताकत को बढ़ाने का काफी चर्चित हुआ था। कहा जाता है कि उनका बावर्ची खाने में अशर्फी की भस्म को मिलाता था। ऐसा करने से खाने का स्वाद बढ़ता था और नवाब की मर्दाना ताकत में भी बढ़ोतरी होती थी। 

alsoreadMen-want-a-wife-who-touches-their-feet - रिवाबा ने जडेजा के छुए पैर , मर्दों को पैर छूने वाली पत्नी चाहिए

फायदे के साथ हुए साइड इफेक्ट

मुगल बादशाहों के शाही खानपान में भी स्वर्ण भस्म को देखा गया है। कुछ मुगल बादशाह तो उबला हुआ गोश्त और पान में भस्म मिलाकर सेवन किया करते थे। इन नुसखों से राजाओं की मर्दाना ताकत बड़ी होगी लेकिन उनको कई Side Effects भी झेलने पड़े हैं। Power बढ़ाने वाली दवाइयों के कारण राजाओं में प्रोस्टेट ग्रंथि के कई लक्षण दिखाई दिए हैं। 

From Around the web