क्यों बिहार के मुसरहवा बाबा मंदिर में भगवान को बीड़ी चढ़ा के मन्नत मांगी जाती है ??

क्यों बिहार के मुसरहवा बाबा मंदिर में भगवान को बीड़ी चढ़ा के मन्नत मांगी जाती है ??

 
pik

भारत जैसे देश में धर्म, भावना और आस्था का स्थान काफी ऊपर है लोग 33 करोड़ देवी देवताओ की पूजा करते हैं हर कोई मंदिरों में जाता है सबकी अपनी अपनी मान्यताएँ है अपने ये तो सुना ही होगा की भगवान को फूल, पानी, दूध या मिठाई चढ़ाते हैं लेकिन कभी किसी भगवान को बीड़ी चढ़ाते हुए देखा या सुना है?? बिहार में एक ऐसा मंदिर है जहाँ लोग बीड़ी चढ़ाते हैं इस मंदिर में बीड़ी चढ़ाने के लिए लोगों की लाइन लगी रहती है बिहार का ये मंदिर एक अजीब परम्परा के लिए प्रसिद्ध है ये बिहार के कैमूर जिले में है मंदिर के पुजारी का नाम गोपाल बाबा है उनका कहना है कि यहां पहुंचने के लिए पहाड़ी का सफर तय करना पड़ता है साथ में एक बंडल बीड़ी लेकर आना होता है बीड़ी चढ़ाने के बाद ही आपकी यात्रा पूरी मानी जाएगी

pik

मंदिर कैमूर जिले के पहाड़ी क्षेत्र में स्थित अघौरा पहाड़ चढ़ने से पहले खुटिया इलाके में बना हुआ है इस मंदिर का नाम मुसरहवा बाबा मंदिर है यहाँ लोग अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए 'बीड़ी' चढ़ाते हैं यह मंदिर कैमूर जिले के खुटिया इलाके में है मंदिर में मुसरहवा बाबा की मूर्ति भी है और दूर-दूर के क्षेत्रों से भक्त अपनी इच्छा के साथ यहां आते हैं और 'बीड़ी' चढ़ाते हैं जैसे लोग अन्य मंदिरों में अगरबत्ती और दीये जलाते हैं वैसे ही यहां बाबा के मंदिर में बीड़ी जलाई जाती है

bidi

बाबा के दर्शन के बाद भक्त 'बीड़ी' की गठरी को खोलकर उसे जलाते हैं और बाबा को चढ़ाते हैं कहा जाता है कि बीड़ी चढ़ाने से बाबा बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों की मनोकामनाएं जल्द पूरी करते हैं पुजारी के मुताबिक इस मंदिर में सालों से 'बीड़ी' चढ़ाई जा रही है और जो नहीं चढ़ा पाते या जिन्हे पहले पता नहीं होता वो वापस लौटकर बीड़ी चढाने के लिए आते हैं मान्यता है कि इधर से होकर गुजरने वाला प्रत्येक यात्री बीड़ी का भोग लगाता है ऐसा करने से उसकी हर इच्छा पूरी हो जाती है

From Around the web