कैसे होते है मोर के बच्चे? क्या सच में मोर के आंसू से होती है मोरनी गर्भवती

कैसे होते है मोर के बच्चे? क्या सच में मोर के आंसू से होती है मोरनी गर्भवती

 
.

'मोर कभी फिजिकल नहीं होता। उनके बच्चे कैसे हैं? वे रोते हैं, आंसू गिरते हैं, मोरनी उन आंसुओं को पीती है और बच्चों को जन्म देती है।' यह बात एक प्रसिद्ध कथावाचक ने मंच से कही है। उनका वीडियो भी सोशल मीडिया पर मौजूद है। वह कहती हैं कि इसीलिए भगवान कृष्ण मोर पंख धारण करते हैं। अब जरा गूगल पर सर्च कीजिए मोर-मोर संबंध बनाने को लेकर कई तरह की जिज्ञासाएं और सवाल मिलेंगे। मोर एक ऐसा पक्षी है जो अंडे नहीं देता तो मोर कैसे पैदा होता है? क्या सच में मोर के आंसू पीने से मोरनी गर्भवती हो जाती है? क्या मोर वास्तव में कभी संभोग नहीं करते? क्या मोर के आंसू पीने से मोरनी गर्भवती हो जाती है? इतना पढ़कर आप भी कंफ्यूज हो जाएंगे कि सच क्या है? कथावाचक क्या कह रहा है या कुछ और।

.

आंसुओं से मोर गर्भवती हो जाती है?

आगे बढ़ने से पहले जान लें कि ये कन्फ्यूजन इतना ज्यादा है कि हाई कोर्ट के एक जज ने कहा था कि मोर राष्ट्रीय पक्षी क्यों है, क्योंकि वह ब्रह्मचारी रहता है।उसके आंसुओं से मोर गर्भवती हो जाती है। थैंक्स कहें, मोबाइल कैमरे को धन्यवाद, जिससे कई लोगों ने मीटिंग का वीडियो भी बनाया और फिर धीरे-धीरे गलतफहमी दूर होने लगी।

आज ही सारा भ्रम दूर कर दें क्योंकि मोर और मोरनी भी दूसरे जानवरों और इंसानों की तरह प्रजनन करते हैं। मोबाइल कैमरों के आने तक इसे कम ही लोग देख पाते थे, इसलिए अफवाहों को बल मिला। हालांकि वैज्ञानिकों ने इसे कभी सही नहीं बताया है। एक दिलचस्प बात जो आपको जाननी चाहिए वह यह है कि कुछ पक्षी एक खास तरह के 'किस' से संभोग करते हैं। इसे अंग्रेजी में क्लोकल किस कहते हैं।

.

बात निराधार है?

कोरा पर भी इस पर काफी बहस हुई है। इधर, कई लोगों ने इस भ्रम को दूर करते हुए बताया कि मोर के आंसू पीकर मोरनी के गर्भवती होने की बात निराधार है. प्रजनन का तरीका अन्य पक्षियों की तरह ही है। जब मोर सहित सभी पक्षी संबंध बनाते हैं तो नर पक्षी मादा की पीठ पर सवार होता है। इस दौरान पुरुष अपने स्पर्म को महिला के शरीर में ट्रांसफर कर देता है।

.

समझिए कि कैसे मोर और मोरनी एक दूसरे के करीब आते हैं

आज से सारी उलझनों को दूर करते हुए समझिए कि कैसे मोर और मोरनी एक दूसरे के करीब आते हैं। मोर को देखकर मोर नाचने लगता है। मोरनी उसे पूरे रास्ते देखती है। आकर्षित होने पर ही उसके सामने आती है। इसके बाद 9 से 15 सेकंड के क्लॉकवर्क किस की प्रक्रिया शुरू होती है। सिविल सर्विस में रहे विनोद गोयल लिखते हैं कि जब एक जोड़ा मिलने-जुलने में व्यस्त होता है तो दूसरा मोर कौतूहल भरी निगाहों से पास आता है कि क्या हो रहा है। वह उनके पीछे से देखता है। एक फोटोग्राफर होने के नाते, वह लिखता है कि संभोग की तस्वीरें लेने में बहुत धैर्य और समय लगता है।

From Around the web